बढ़ते संक्रमण ने सम्पूर्ण राज्यों में लॉकडाउन की स्थिति बढाई! हाई कोर्ट में तत्काल लॉक डाउन लगाये जाने पर हुई याचिका दायर।

दिल्ली हाई कोर्ट ने क्या सवाल किये ?

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना महामारी के मामलों में काफी इजाफा हो चुका है. ऐसे में महामारी के फैलाव को देखते हुए दिल्ली में तत्काल लॉकडाउन लगाए जाने को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की गई। इस याचिका को दिल्ली हाईकोर्ट ने खारिज करते हुए सवाल किया है कि क्या लॉकडाउन ही एकमात्र विकल्प है? हाईकोर्ट ने कहा कि लॉकडाउन से संबंधित निर्दश नितिगत फैसले के तहत आते हैं, जो कि संबंधित संस्थाए ही ले सकती हैं. देश में कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है।

गुजरात हाईकोर्ट ने रोजोना बढ़ रहे मामलों को देखते हुए वीकेंड कर्फ्यू को लेकर निर्णय लेने के लिए कहा है। हाईकोर्ट को लगता है कि राज्य में लॉकडाउन लगाया जाना चाहिए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से मंगलवार सुबह जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना संक्रमण के 96,982 नये मामले सामने आए। मरीजों की मौत के साथ इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 1,65,547 हो गयी है। देश में रिकवरी दर आंशिक घटकर 92.48 फीसदी और सक्रिय मामलों की दर बढ़कर 6.21 प्रतिशत हो गया है जबकि मृत्युदर घटकर 1.30 फीसदी रह गयी है। 

टिके की सर्वाधिक खुरांके कहाँ कहाँ दी गई हैं ?

स्वास्थ्य मंत्रालय के मंगलवार तक के आंकड़ों के मुताबिक अब तक देश में टीकों की कुल 8,31,10,926 खुराक दी जा चुकी हैं। मंत्रालय के सुबह सात बजे तक के डेटा के मुताबिक पिछले 24 घंटे में टीके की कुल 43,00,966 खुराकें दी गईं जिनमें से 39,00,505 लाभार्थियों को टीके की पहली खुराक जबकि 4,00,461 लाभार्थियों को टीके की दूसरी खुराक दी गई। अब तक लगाए गए कुल टीकों में से 60 प्रतिशत खुराकें महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, मध्य प्रदेश और केरल में दी गई हैं। आंकड़ों में बताया गया कि देश में लगे कुल 8,31,10,926 टीकों में से सर्वाधिक 81,27,248 खुराकें महाराष्ट्र में दी गई हैं। इसके बाद गुजरात में 76,89,507, राजस्थान में 72,99,305, उत्तर प्रदेश में 71,98,372 और पश्चिम बंगाल में 65,41,370 टीके लग चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.