अब इंडिया गेट पर नहीं, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जलेगी “अमर जवान ज्योति” ?

RASHTRIYA YUDDHA SMARAK

राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जलेगी 50 साल से जल रही ‘ अमर जवान ज्‍योति ‘ !!

आज से India Gate पर नहीं, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जलेगी 50 साल से जल रही ‘ अमर जवान ज्‍योति ‘ जानिए क्यों ?

आपको बता दें की अब दिल्ली स्थित India Gate पर पिछले 50 साल से जलनेवाली अमर जवान ज्‍योति का आज राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जल रही लौ में आज यानी शुक्रवार को विलय कर दिया जाएगा. सेना के अधिकारियों ने गुरुवार को यह जानकारी बताई I

सेना के अधिकारियों ने ये भी बताया कि अब यह ज्योति इंडिया गेट की जगह नेशनल वॉर मेमोरियल पर प्रज्जवलित करि जायेगी करीब 3.30 बजे शुक्रवार दोपहर इसकी लौ को वॉर मेमोरियल की ज्योति में मिला दिया जाएगा। और आज के इस जानकारी के मुताबिक, समारोह की अध्यक्षता एयर मार्शल बलभद्र राधा कृष्ण करेंगे।

कैसे हुआ बांग्लादेश का गठन ?

इस ज्योति की स्थापना उन भारतीय सैनिकों की याद में की गई थी जो 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में शहीद हो गये थे। और इस युद्ध में भारत की विजय हुई थी और इस दौरान बांग्लादेश का गठन हुआ था। उस समय के तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने 26 जनवरी 1972 को इसका उद्घाटन के द्वारा कराया हुवा था। ये अमर जवान ज्‍योति एक काले मार्बल का फलक है जिसके चारों तरफ स्‍वर्णाक्षरों में ‘अमर जवान’ लिखा हुआ है। वहीं, इसके ऊपर एक L1A1 सेल्‍फ लोडिंग राइफल रखी है और उस के ऊपर एक सैनिक का हेलमेट किसी मुकुट की तरह रखा गया है।

जहा इस फलक के चारों तरफ कलश रखे हुए हैं, जिनमें से एक में ज्‍योति साल 1971 से ही लगातार जली आ रही है। यूं तो चारों कलशों में ज्‍योति जलती है, लेकिन पूरे साल भर चार में से एक ही ज्‍योति हमेशा जलती ही रहती है। जहा सेना के सूत्रों का यह भी कहना है कि नेशनल वॉर मेमोरियल में सारे शहीदों के नाम हैं, शहीदों के परिवार के लोग यहीं आते हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 25 फरवरी 2019 को नेशनल वॉर मेमोरियल का उद्घाटन किये थे, जहां 25,942 सैनिकों के नाम स्वर्ण अक्षरों में लिखे गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.